अभिनेत्री उर्मिला मातोंडकर का बड़ा बयान, CAA को बताया काला कानून

Urmila matondkar on CAA

CAA कानून देश में लागू हो चुका है लेकिन कई लोग इसका लगातार विरोध करते नजर आ रहे हैं. इस कड़ी में अब बॉलीवुड अभिनेत्री और हाल ही में कांग्रेस ज्वाइन करने वाली उर्मिला मतोड़कर ने भी बड़ा ब्यान दिया है. उर्मिला (Urmila on CAA) ने इस कानून को अंग्रेजों के एक कानून से तुलना करते हुए गरीब विरोधी और काला कानून बताया है.

उर्मिला ने CAA को बताया गरीब और मुस्लिम विरोधी कानून

देश में पिछले काफी समय से CAA को लेकर हंगामा देखने को मिल रहा है. वहीं देश के कई लोग इसके समर्थन में हैं. लेकिन इन सब के बीच कुछ लोग लगातार इसका विरोध जताते नजर आ रहे हैं. इस कड़ी में अब बॉलीवुड अभिनेत्री और हाल ही में कॉंग्रेस में शामिल हुई उर्मिला ने अब इसको लेकर बड़ा बयान दिया है. उर्मिला (Urmila on CAA) ने इस कानून की तुलना 1919 के रॉलेट एक्ट से की है. दरअसल मुंबई में सीएए, राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) और राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (एनपीआर) के खिलाफ नॉन वायलेंट पीपुल्स मूवमेंट ने महात्मा गांधी की पुण्यतिथि के मौके पर एक बैठक आयोजित की थी। इस दौरान उर्मिला ने इस कानून को गरीब विरोधी बताते हुए यह बड़ा बयान दिया है.

साथ ही उर्मिला ने कहा-इस कानून को लोग देश के काले कानून के रूप में याद करेंगे। वह कहती हैं कि, लोग इस कानून का लगातार विरोध कर रहे हैं. जाहिर है बॉलीवुड इंडस्ट्री से कई लोग इसको लेकर अपना विरोध जता चुके हैं.

गांधी जी ने हिंदुत्व का सबसे अधिक पालन किया

वहीं इस दौरान उर्मिला ने गांधीजी के बारे में बात करते हुए उर्मिला ने कहा, ‘गांधीजी किसी एक देश के नहीं बल्कि पूरी दुनिया के नेता थे। मेरे हिसाब से अगर किसी ने हिंदू धर्म का सबसे ज्यादा पालन किया तो वो गांधीजी थे।’ वहीं गांधीजी के हत्यारे को लेकर वो बोलीं, ‘जिस व्यक्ति ने गांधीजी को मारा ना तो वो मुस्लिम था और ना ही वो सिख था।

Related Posts