अधिकारियों से कहा- सर मैं 3 दिन से सो नहीं पाई हूं, इतना कहते ही जमीन पर गिर पड़ी दीपिका और फिर..

जमीन पर गिर पड़ी दीपिका

सर.., तीन दिन से मैं सो नहीं पाई हूं। कर्मचारी व जनप्रतिनिधि प्र’ता’ड़ित कर रहे हैं। मुझे पुलिस सुर’क्षा चाहिए। अधिकारियों के सामने बस इतना ही कह पाई कि उसके बाद उन्हें च’क्क’र आ गया और वह जमीन पर गिर गई. जी हां एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है. जहां एक अधिकारी (Officer in amroha) ही लोगों से काफी परे’शा’न हो गया.

रिपोर्ट्स के मुताबिक, यह मामला है उत्तर प्रदेश के अमरोहा जिला कार्ययालय का. यहां पर एक नगर पंचायत जोया की अधिशासी अधिकारी दीपिका शुक्ला डीएम दफ्तर में बे’हो’श होकर गिर गईं। इस घ’टना के बाद अधिकारी काफी घब’रा गए और अधिकारियों व कर्मचारियों में ख’लब’ली मच गई। तो आइये आपको बताते हैं कि, आखिर क्या है यह पूरा मामला।

अधिकारियों के सामने शिका’यत बताते वक्त जमीन पर गि’र गई

यह मामला है उत्तर प्रदेश के जिला अमरोहा का. यहां पर एक अधिशासी अधिकारी काफी पिछले कुछ समय से काफी परे’शा’न थीं. इसके बाद वह डीएम कार्यालय अपनी शिका’यत लेकर पहुंचती हैं. वह बस अपनी बात बताना ही शुरू करती हैं की अचानक उनकी तबि’यत बि’ग’ड़ जाती है और वह गिर जाती हैं. रिपोर्ट्स के मुताबिक, आन’न-फा’नन में जिलाधिकारी ने उनको अस्पताल में भर्ती कराया। जहां स्थिति सामान्य होने के बाद उनको पुलिस सुरक्षा मुहैया करा दी गई। इसके अलावा उन्होंने मामले की जांच कराने के निर्देश भी अधी’न’स्थों को दिए हैं। रिपोर्ट के मुताबिक, अधिशासी अधिकारी ने बताया कि पिछले कुछ दिनों से कर्मचारी व कुछ जनप्रतिनिधि उनका उ’त्पी’ड़न करने में लगे हैं। जहां जाती हूं वहीं, मेरा पी’छा किया जाता है। ग’लत शि’का’यतें नगर पंचायत के कर्मचारियों से करा रहे हैं।

जानें क्या है पूरा मामला

अधिकारी ने आगे बताया, ऐसा सिर्फ जनप्रतिनिधि इसलिए कर रहे हैं कि मेरे रहते हुए उनके मं’सू’बे कामयाब नहीं हो पा रहे हैं। बीते कुछ दिनों से दिमा’ग काफी परे’शा’न चल रहा है। तीन दिन पहले द’बं’गई की ह’द कर दी। एक कर्मचारी को पी’ट दिया। इसके बाद अन्य माध्यम से तरह-तरह की धम’कि’यां दिलाई जा रही हैं। दिमाग इस क’द’र परे’शा’न हो गया था कि तीन दिन से में सो भी नहीं पाई।

शनिवार की दोपहर करीब दो बजे जिलाधिकारी से मिलने उनके दफ्तर गई थी ताकि, मुझे पुलिस सुरक्षा मिल सके। उनको पूरी स्थिति से वा’कि’फ कराते-कराते अचानक च’क्क’र आ गया और बे’हो’श हो गई। अब स्थिति में सुधार है। पुलिस सुरक्षा भी मुझको उपलब्ध करा दी गई है।