Punjab Election: सोनू सूद की बहन ने ज्वाइन की यह पार्टी, इस सीट से लड़ सकती हैं विधानसभा चुनाव

मालविका सूद ने ज्वाइन की कांग्रेस

गरीबों के मसीहा बन चुके सोनू सूद की बहन चुनाव में उतरने जा रही हैं. इस बात की जानकारी उन्होंने खुद कई दिन पहले दे दी थी. लेकिन उसके बाद से लगातार लोगों के मन में यह सवाल था कि, आखिर मालविका किस पार्टी के टिकट से चुनावी मैदान में उतरेंगी. तो अब आखिरकार इस बात से पर्दा उठ ही गया.

सोनू सूद की बहन मालविका किस पार्टी से चुनाव लड़ने जा रही हैं. इस एलान के बाद से अब पंजाब के साथ ही देश की सियासत में हल’चल तेज हो गई है.

सोनू सूद की बहन करेंगी राजनीति में एंट्री

बता दें कि, मालविका सूद भी भाई सोनू की तरह लंबे समय से अपने गृह जिले मोगा में जनता की सेवा का काम करती आ रही हैं. वह शिक्षा से लेकर स्वास्थ्य एयर जरूरतमंदों को अन्य मदद पहुंचाने तक का काम करती हैं.

वहीं सोनू सूद तो पिछले 2 साल से लगातार जनता की सेवा में लगे हुए हैं. यही वजह है कि, सोनू देश भर की जनता के दिलों दिमाग में बस गए हैं और लोग उनकी पूजा तक करते नजर आते हैं. लोगों ने तो उनको अपना मसीहा, भगवान तक मान लिया है.

सोनू की तरह समाज सेवा का कार्य करती हैं मालविका सूद

ठीक उसी तरह से मालविका सूद भी लम्बे समय से अपने गृह जिले में सेवा भाव का कार्य कर रही हैं. वहीं जबसे उन्होंने राजनीती में आने का एलान किया है उसके बाद से लोग कई सवाल उठाते भी नजर आते है.

हाल ही में मालविका सूद अपने भाई सोनू के साथ पंजाब के सीएम चरणजीत सिंह चन्नी और नवजोत सिद्धू संग मिली थीं. इसके बाद उन्होंने अपने राजनीतिक करियर को लेकर बड़ा एलान कर दिया.

सीएम चन्नी ने भी सोनू सूद और मालविका सूद संग मुलाकात की फोटो को ट्विटर पर शेयर कर मालविका का स्वागत किया था. यानी अब मालविका कांग्रेस के टिकट पर चुनाव में उतरने जा रही हैं. हालांकि अभी यह तय नहीं हुआ है कि, वह किस सीट से चुनाव लड़ेंगी.

बता दें कि, उधर सोनू सूद के घर पर कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धु और सीएम चरणजीत सिहं चन्नी की उपस्थिति में मालविका ने कांग्रेस की सदस्यता ली. रिपोर्ट के अनुसार, मालविका को हर पार्टी से टिकट मिल रहा था लेकिन उन्होंने कांग्रेस के साथ जाने का फैसला लिया. लेकिन यह माना जा रहा है कि, मालविका मोगा से ही चुनाव लड़ेंगी.

मालविका सूद ने ज्वाइन की कांग्रेस

जानकारी के लिए बता दें कि, कुछ समय पहले ही सोनू सूद ने अपना नाम पंजाब के स्टेट आइकन के पद से हटा लिया था. उन्हें साल 2020 में ये सम्मान दिया गया था. कई समय से कयास लगाया जा रहे थे कि सोनू सूद राजनितिक पार्टी को ज्वाइन कर सकते हैं. हालांकि अभिनेता ने हमेशा इन अटकलों को खारिज किया है.

सोनू ने कहा कि वह लोगों की हर संभव मदद को आगे भी तैयार हैं और हमेशा करते रहेंगे. हाल ही में उन्होंने अपनी बहन मालविका के साथ चंडीगढ़ के मोगा में स्कूल की छात्राओं और सामजिक कार्यकर्ताओं को 1000 साइकिल बांटने का वादा किया है.

मालविका सूद ने ज्वाइन की कांग्रेस

तो वहीं उधर मोगा से चुनाव लड़ने की चर्चा शुरू होते ही इस सीट से मौजूदा विधायक हरजोत कमल ने बा’गी होने की बात कर दी है. रिपोर्ट्स के मुताबिक, उन्होंने टिकट न मिलने पर बा’गी होकर उतरने का ऐलान कर दिया है.

यही नहीं सोमवार को मालविका सूद को एंट्री दिलाने के लिए मोगा पहुंचे चन्नी और सिद्धू को भी विरोध का सामना करना पड़ा.

हरजोत कमल के समर्थकों ने सीएम चन्नी और नवजोत सिंह सिद्धू के खिलाफ नारेबाजी की. तो वहीं सोनू ने बहन को बधाई देते हुए कहा कि, उनका सेवा भाव का कार्य आगे भी जारी रहेगा और मालविका के किसी भी पार्टी के ज्वाइन करने से उनके काम पर असर नहीं पड़ेगा. वह राजनीति से दूर होकर अपना कार्य जारी रखेंगे.